सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

प्रदर्शित

खरगोश और कछुआ moral story in hind

खरगोश और कछुआ आज हम लेकर आए है हिन्दूस्टोरी .com मे खरगोश और कछुआ की रेस की पूरी कहानी ।

हम में से ज्यादा तर लोगो ने खरगोश और कछुआ की रेस की कहानी तो जरूर सुनी है लेकिन इनकी रेस सिर्फ एक बार नहीं बल्कि 4 बार हुई थी


एक बार की बात है एक खरगोश और कछुए में बहस हो गई कौन सबसे तेज दौड़ता है बहुत देर तक झगड़ा होने के बाद उन्होंने तय किया कि इस बात का फैसला तो एक रेस से ही किया जाए जो रेस जीतेगा वही सबसे तेज माना जाएगा अब दोनों इस बात से राजी हो गए दौड़ने के लिए एक जगह का चुनाव भी किया गया

अगले सुबह रेस शुरू हुई । रेस शुरू होते ही खरगोश बहुत तेजी से भागा और कछुआ से बहुत आगे निकल गया कुछ देर लगातार भागते रहने के बाद खरगोश ने पीछे मुड़कर देखा तो , खरगोश ने सोचा कि कछुआ तो बहुत धीरे से चला आ रहा है क्यों ना मैं आराम कर लेता हूं ।

तो वह वही पर एक पेड़ के नीचे आराम करने लगा और जल्दी ही उसकी आंख लग गई और वह गहरी नींद में सो गया कछुआ बिना रुके बिना थके लगातार चलता रहा है एक वक्त आया पेड़ के नीचे सोए  हुए खरगोश से आगे निकल गया और खरगोश जब नींद से उठा तो उसे बहुत दुख हुआ ये जानकर कि …

हाल ही की पोस्ट

समय का खेल moral story in hindi

सतरंगी बहन moral story in hindi

माँ और पिता की शिक्षा moral story

सच्ची कहानी Moral story in hindi

पानी और समय की कीमत. /. Water and time . motivational story

गौतम बुध्द की सीख (Learning of Gautam Buddha)

मूर्तिकार (Sculptor)

अधूरी प्रेम कथा / अधूरा प्यार

कंजूस आदमी

एक माँ की motivational story