सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

January, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मूर्तिकार (Sculptor)

Once a sculptor was going through the jungle, the sculptor saw a stone; the sculptor thought that he could become an idol

He stopped right there and pulled it out of the bag and hit the stone, then the sound of the stone did not hit me, do not hurt me.

 Go ahead and go sculptor scared, he started thinking that the sound is coming from the stone in the forest.

The sculptor was kind and he went ahead, walked away a few times, he saw another stone, the sculptor said that it looks like a stone and it can become an idol


The sculptor picked up the same from the bag and was about to hit the stone, but no longer the sound of the stone, the sculptor made an idol from the stone


The sculptor thought that this huge idol has been built, to carry it, I will come with three four people and the sculptor crosses the forest and crosses the village.

 The villagers said that your only wait was the temple, now the idol needs to be installed.


The sculptor said, what is the need to create an idol idol then …

अधूरी प्रेम कथा / अधूरा प्यार

राहुल की love story  ये कहानी राहुल और अजंली की है ये कहानी शुरु होती है एक कोचिंग सेंटर से जहाँ पर वो पढते थे


सुबह हुई राहुल कोचिंग जा रहा था कुछ ही दूर पहुचा तो सामने से एक सुन्दर लडकी चली आ रही थी जिसका नाम अजंली था राहुल ने कभी इतनी सुन्दर लडकी नही देखी थी ओ अपने मन में सोंच रहा था कि वा क्या लडकी है कुछ ही देर मे अजंली से टकरा गया 
और उस अजंली की सारी किताबें गिर गई तब अजंली ने तेजी से आवाज में कहा क्यो दिखता नही है क्या राहुल एक दम से चौंक गया राहुल ने अजंली की किताबो को उठाकर बोला soory  और राहुल आगे कि ओर बढ गया जब वह कोचिंग पहुचा तो जैसे ही दरवाजा खोला 
ये भी पढे़ -
एक माँ की motivational story

ये भी पढे़ - कंजूस आदमी
ये भी पढे़ -India मे चुनाव कैसे जीते जाते है

तो वही लडकी पहले से ही कोचिंग मे बैठी थी राहुल तो हैरान ही रह गया और सोंचने लगा की मुझे क्या हो गया है  मुझे तो वही लडकी दिख रही है तभी sir ने कहा की राहुल अन्दर आओगे के वही से पढोगे राहुल ने कहा yes sir

 राहुल जाकर उस लडकी के पीछे बैठ गया एक घण्टे बाद जब कोचिंग की छुट्टी हो गयी और सभी लडके अपने अपने घ…

कंजूस आदमी

एक आदमी का नाम था रामचंद्र रामचंद्र तो मस्ती में पड़ गया था लेकिन वह पैसे से बहुत कंजूस था 1 दिन उसकी पत्नी ने कहा कि हरिद्वार ही चले जाओ कभी तो तुम दान पुन करते नहीं हो  तो उस आदमी ने कहा कि मेरे घर से हरिद्वार 20 किलोमीटर दूर है बस में जाऊंगा या ट्रेन में जाऊंगा तो रुपया लगेगा तो पत्नी ने कहा कि पैदल ही चले जाओ  तो उस आदमी ने कहा कि हां यह बात तो ठीक है जब वह आदमी घर से निकला तो सोचने लगा कि नहाने जाऊंगा तो साधु संत मिलेंगे तो पैसा देना पड़ेगा सोचते सोचते दिमाग में आया कि मुर्दा घाट चला जाऊं तो वहां तो कभी कभी कोई साधु संत आते हैंये भी पढे़ ) गौतम बुध्द की सीख (Learning of Gautam Buddha


ये भी पढे़- अधूरी प्रेम कथा / अधूरा प्यार  भगवान ने देखा कि कंजूस आदमी मुर्दा घाट में पाप धोने आया है जैसे ही उस आदमी ने गंगा जी में डुबकी लगाई तो भगवान जी   संत का रूप लेकर प्रकट हो गए वह आदमी जैसे ही बाहर निकला तो सामने देखा कि संत ।  संत बोले जजमान की जय हो आदमी बोलता है कि तुम कौन हो भगवान बोलते हैं कि मैं संत हू आदमी बोलता है कि तुमने तो मुर्दा घाट भी नहीं छोड़ा भगवान बोलते हैं कि वैसे तो हम संत…

एक माँ की motivational story

एक माँ की motivational story


ये कहानी एक माँ की है जो अपने बेटे से बहुत प्यार करती थी माँ हमेशा यह सोंचती थी की बेटा अपने पैरो मे खडा हो जाए

कुछ दिनो बाद उस लडके की पानी वाले जहाज मे job {नौकरी} लग गयी वह एक से दो लाख रूपये महीना कमाने लगा एक दिन की बात है उसकी माँ ने कहा कि भी समुद्र घूमने जाऊगी तो लडके ने कहा ठीक है चलो

जब जहाज बीच समुद्र मे पहुचा तो कुछ कारण से जहाज डूबने तभी उस लडके ने अपनी माँ से कहा अगर तुम मेरे साथ नही आती तो ये जहाज सायद नही ढूबता तब तक कि जहाज आधा ढूब चुका था तभी उस लडके ने देखा कि कुछ ही दूर पे एक टापू है

ये भी पढे़ ) गौतम बुध्द की सीख (Learning of Gautam Buddha

ये भी पढे़ - कंजूस आदमी

वह एक लकडी के टुकडे मे माँ को बैठाकर उस टापू तक ले आया और अपनी माँ को छोडकर टापू के दूसरे किनारे मे पहुच गया तभी भगवान से कहने लगा हे भगवान खाने के लिए जुगाढ बना दे कुछ देर बाद कुछ बंदर उसे खाने के लिए कुछ फल ले आते

अगले दिन भगवान से कहने लगा कि रहने के लिए कुछ जुगाढ कर दे तभी कुछ देर बाद एक तैरता हुआ एक तम्बू वहाँ पर पहुच जाता है और उस तम्बू को गाड़कर रहने लगता है कुछ दिन ब…