सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

December, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

India मे चुनाव कैसे जीते जाते है

माधव सिंह 


ये कहानी माधव सिंह की है जो कि अमीर था और वह  रुपयों के दम पर प्रधान बनता था प्रधान बनने के लिए
उसने क्या - क्या  किया ये सब कुछ हम बताये गे जिससे वह हर बार चुनाव जीतता था 
ये कहानी उस वक्त की है जब चुनाव के वोट डालने के 20 दिन बचे  थे । माधव सिंह के विपच्छ मे रामनाई खडा़ था माधव सिंह ने सोंचा रामनाई ही खतरा बन सकता है तभी माधव सिंह ने रामनाई को बुलाया और उससे 
कहा की मै तुमे 50000रुपये दूगां तुम चुनाव मे बैठ जाओ । रामनाई समझदार और ईमानदार था और गरीब भी था लेकिन रामनाई ने रुपये लेने से मना कर दिया और रामनाई अपने घर चला आया  

 अगले दिन तब रामनाई अपने लोगो को लेकर वोट मागने के लिए चला गया माधव सिंह ने हर बार की तरह अपने लोगो को बुलाया और एक टृक शराब की बोतल को मगाया  और सभी शराब की पेटियों को एक कमरे मे रखवाया और लोगो को शाम को बुलाया और हर एक आदमी को 
एक से अधिक क्वाटर दिए गये लोग शराब को पीके नशे मे हो गये सभी लोग माधव सिंह को वोट देने के लिएतैयार हो गये माधव सिह सभी लोगो का लालच तो जानता ही था तभी वह हर दिन  शाम को एक या दो तथा तीन क्वाटर

देने लगा और लोगो को श…

डर के आगे जीत है

डर के आगे जीत है  ये कहानी उस लडके की है जो 10th class मे पढता था  और उसे प्रतिदिन 15km दूर  साइकिल से जाना पढता था और बीच मे एक जंगल पढता था
उस लडके का नाम था राहुल राहुल  को bord पेपर देने का समय आ चुका था राहुल को जब पहला पेपर देने जाना था तभी उसे सुबह 5 बजे से घर से निकलना था सर्दी का मौसम था स्कूल जाने से पहले उसके पिताजी ने 3000 हजार रूपये   उसकी मौसी को देने को कहा जो की स्कूल के पास घर पढता था राहुल ने कहा ठीक है मै दे दूगाँ राहुल ने घर से चल दिया जब वह जंगल के पास पहुचने वाला था तभी अचानक से सियार ने रास्ता काट दिया राहुल डर गया था तभी वो सोचने लगा कि मेरे पास 3000 हजार रूपये है कुछ देर सोचता रहा तभी उसने उन रुपयोंं को अपने पैरो के मोजो के अन्दर डाल लिये और जंगल की ओर चल पढा

जब वह बीच जंगल मे  पहुचा तभी उसे रोड से कुछ दूर दो ठग दिखे जो लोगो को लूट लेते थे राहुल तो डर सा गया था उसकी धडकन बहुत तेज चुकी थी उसे लग रहा था
कि वह मारा जायेगा  उसने कुछ हिम्मत जुटाई और आगे बडा
दोनो ठग पास ही आ रहे थे लेकिन रोड पे नही थे  रोड से कुछ ही दूर रह गये थे राहुल जब उनके प…